जो कहते थे ‘मैं खाता नहीं, खाने देता नहीं’ वही आज राफ़ेल भ्रष्टाचार की JPC जाँच करने देता नहीं।

What Do You Think? Speak Your Voice...

 

*